News Super Search
 ♦ 
×
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Search
  Go  
Full Site Search
  Search  
 
Sun Jan 21, 2018 08:14:36 ISTHomeTrainsΣChainsAtlasPNRForumGalleryNewsFAQTripsLoginFeedback
Sun Jan 21, 2018 08:14:36 IST
Advanced Search
Trains in the News    Stations in the News   

News Posts by Jayashree ❖ Amita

Page#    Showing 1 to 5 of 38690 news entries  next>>
  
Today (04:41)  Train With A Speed Of 135 At Double Track - डबल ट्रैक पर 135 की स्पीड से दौड़ाई ट्रेन (www.amarujala.com)
back to top
Other News

News Entry# 327515     
   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
 
 
खतौली। रेलवे संरक्षा आयोग के आयुक्त शैलेश पाठक ने शुक्रवार रात को डबल रेलवे ट्रैक चेक करने के लिए 135 किमी की स्पीड से स्पेशल ट्रेन को दौड़ाई। इस ट्रेन में वे खुद भी अधिकारियों और इंजीनियरों के साथ बैठे हुए थे। सीआरएस ने रात में ही ट्रैक को चेक करने के बाद लिखित में अधिकारियों को ट्रेनों का संचालन करने के आदेश जारी कर दिए थे।
सीआरएस शैलेश पाठक ने दौराला से लेकर खतौली तक बिछाए गए डबल ट्रैक की ट्रॉली में बैठकर निरीक्षण किया था। निरीक्षण के दौरान उन्होंने रेलवे ट्रैक को दुरुस्त बताते हुए अधिकारियों को ट्रेनों का संचालन करने के लिए हरी झंडी दे दी थी। रात में सीआरएस स्पेशल स्ट्रे में दौराला से बैठे।
उनके
...
more...
साथ में स्पेशल ट्रेन में अधिकारी व इंजीनियर भी थे। उन्होंने डबल रेलवे ट्रैक पर दौराला से लेकर खतौली स्टेशन तक 135 किमी की स्पीड से स्पेशल ट्रेन को दौड़ाकर चेक किया। स्पेशल ट्रेन दौड़ती हुई रात के 7.55 बजे स्टेशन पर पहुंची। सीआरएस ने अधिकारियों को ट्रैक दुरुस्त होने तथा उस पर ट्रेनों का संचालन कराने के लिए अधिकारियों को लिखित में दिया। शुक्रवार रात 9.15 बजे स्पेशल ट्रेन वापस उसी स्पीड से दिल्ली के लिए रवाना हो गई। शनिवार को दिनभर डबल ट्रैक से सभी ट्रेनों का संचालन होता रहा।
  
Today (04:39)  Ghaziabad: 30-year-old booked for damaging rail track, UP-ATS to probe (www.hindustantimes.com)
back to top
Other News

News Entry# 327514     
   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
 
 
The police have arrested the 30-year-old man who was allegedly found dismantling the fishplates from the railway track near Murad Nagar railway station on Friday morning.
Officers said the accused is a “hardcore criminal” and they are still probing his motive for the act of sabotage.
The government railway police (GRP) officers said Furkan, a resident of Malakpur village in Bulandshahr, was booked under several provisions of the Railways Act and produced before a magistrate in Meerut.
“The
...
more...
case was lodged at Meerut GRP police station. So far, we have not been able to link him to any group(s) involved in sabotage activities. But we have alerted UP anti-terrorism squad and intelligence agencies as the accused is yet to reveal more details about himself,” said SC Dubey, superintendent of police, GRP, Moradabad.
According to police, Furkan came out of jail on December 25, 2017, after being lodged there for eight years for various offences. Police said he has cases of attempt to murder, robberies, and those under the Arms Act and the Gangster Act against him in Bulandshahr.
“We are still probing all angles of the sabotage incident and we have sought the cooperation of various intelligence agencies. He is one of seven brothers and five of them have a criminal background,” Dubey said.
Furkan, who resides in Murad Nagar, was on Friday spotted by three teenagers removing the fishplates from the track nearly 800 metres from Murad Nagar railway station in Ghaziabad district.
They said he was sitting on the tracks and asked them for their mobile phone to make a call. But, the boys refused to give him their phones. When they saw the fishplates he had removed from the tracks, they beat him up and brought him to the railway station where he was handed over to the GRP and the railway protection force officers.
The sabotage took place just minutes before the Mumbai-Dehradun Express was scheduled to pass that way. The train was immediately halted at Murad Nagar for nearly 45 minutes and allowed to proceed only after the tracks were repaired.
The GRP and railway protection force officers grilled Furkhan but he did not reveal much about himself. Through the local police network, the investigators came to know of his criminal background.
“If anything serious is revealed, we will consider booking Furkan under more stringent sections. The man said he removed the fishplates to buy wheat flour,” Dubey said.
  
आपने रेलवे फाटक तो कई देखे होंगे, लेकिन हम आपको एक ऐसा रेलवे फाटक दिखा रहे हैं, जहां ट्रेन के गुजरने से पहले लोको पायलट यानी ट्रेन का ड्राइवर ट्रेन रोक कर खुद उतरकर फाटक बंद करता है. जब ट्रेन फाटक पार कर लेती है, तो उसे फिर रोका जाता है. इसके बाद गार्ड, टीसी और या ट्रेन पर सवार कोई दूसरा कर्मचारी फाटक खोल देता है. इसके बाद ट्रेन रवाना होती है. ये मज़ाक नहीं सच है. ऐसा इसलिए, क्‍योंकि स्‍टाफ की कमी के चलते इस रेलवे फाटक पर कोई कर्मचारी तैनात नहीं है. पूर्व में जो तैनात था, उसे हटा लिया गया है.
  
Today (04:37)  3 किशोरों की बहादुरी से टल गया रेल हादसा (navbharattimes.indiatimes.com)
back to top
Other News

News Entry# 327512     
   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
 
 
5 मिनट की भी देरी होती तो हादसे का शिकार हो सकती थी मुंबई-देहरादूर एक्सप्रेस
- रेलवे पुलिस के अलावा सिविल पुलिस और खुफिया एजेंसी कर रही युवक से पूछताछ
- हालांकि रेलवे पुलिस ने किसी तरह के आतंकी कनेक्शन से फिलहाल इनकार किया है
एनबीटी न्यूज, मुरादनगर
3
...
more...
किशोरों की मुस्तैदी और सूझबूझ की वजह से शुक्रवार को दिल्ली-मुरादाबाद रेल मार्ग पर एक बड़ा रेल हादसा होने से टल गया। यहां एक युवक ने रेलवे ट्रैक की नटबोल्ट खोल फिशप्लेट्स निकाल दी थी। इस दौरान वहां से गुजर रहे 3 किशोरों ने यह देखा और युवक को पकड़ उसकी धुनाई करते हुए स्टेशन मास्टर के पास ले गए। सूचना मिलते ही जीआरपी, आरपीएफ और स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंची। इस दौरान करीब डेढ़ घंटे तक दिल्ली-देहरादून रेल मार्ग बाधित रहा। मुंबई से आने वाली देहरादून एक्सप्रेस को लगभग 1 घंटे तक रेलवे स्टेशन पर खड़े रखा गया। पुलिस और खुफिश एजेंसियों ने घंटों तक युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ की। हालांकि रेलवे पुलिस ने किसी तरह के आतंकी कनेक्शन से फिलहाल इनकार किया है।
दयानंद कॉलोनी निवासी शिवा (16) तुषार (15) और सचिन कुमार (14) शुक्रवार सुबह करीब 8 बजे ट्रैक की ओर गए थे। पोल संख्या 38.19 के पास बैठे एक युवक ने उनसे कॉल करने के लिए मोबाइल मांगा। इस पर किशोरों ने उसे मोबाइल देने से मना कर दिया। इसी बीच तुषार की नजर रेलवे ट्रैक पर खुले पड़े नट बोल्ट और फिश प्लेट पर गई। उन्होंने जब इस बारे में युवक से पूछा तो वह भागने लगा। इस पर तीनों से उसका पीछा किया और उसे दबोच लिया और उसकी जमकर धुनाई कर शोर मचा दिया। शोर सुनकर आसपास के लोग भी मौके पर पहुंच गए और युवक को रेलवे स्टेशन पर ले जाकर स्टेशन मास्टर को सौंप सारी बात बताई। स्टेशन मास्टर ने फौरन इसकी इसकी सूचना उच्चाधिकारियों को दी। सूचना मिलते ही घटनास्थल पर जीआरपी, आरपीएफ व स्थानीय पुलिस पहुंची। इसके बाद युवक को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई। रेलवे सुरक्षा बल के कंमाडेट शशि कुमार ने बताया कि आरोपी के पास के बड़ा हथौड़ा, नट बोल्ट और निकाली गई फिश प्लेट्स बरामद हुईं हैं। आरोपी की पहचान बुलंदशहर के फुरकान के रूप में हुई है। मामले की जांच हर स्तर पर की जा रही है।
सही वक्त पर मिल गई सूचना
स्टेशन मास्टर गौरव सिंह ने बताया कि फिश प्लेट्स निकाले जाने की सूचना मिलने के बाद 8:59 बजे मुंबई-देहरादून एक्सप्रेस स्टेशन पर आ गई थी। इसके बाद ट्रेन को यहीं पर रोक लिया गया। करीब 45 मिनट तक यह ट्रेन यहीं पर रुकी रही। इस वजह से यात्रियों ने जमकर हंगामा किया। हालांकि बात से सच्चाई बताने पर सब शांत हो गए। अगर सूचना मिलने में 5 मिनट की भी देरी हो जाती तो एक बड़ा हादसा हो सकता था। इसके अलावा रोजाना सुबह 7 बजे के आसपास दिल्ली-अंबाला पैसेंजर ट्रेन भी इसी रूट से गुजरती है, लेकिन सर्दी और कोहरे के चलते इस ट्रेन को रद्द कर दिया गया है।
की-मैन की लापरवाही भी उजागर
रेलवे ट्रैक की जांच की जिम्मेदारी पैट्रोलमैन व कीमैन की होती है। की-मैन सुबह, दोपहर और शाम के वक्त पैट्रोलिंग करते हैं। शुक्रवार सुबह अगर समय रहते तीनों किशोर ट्रैक को नहीं देखते तो शायद बड़ा हादसा हो सकता था।
वर्जन
आरोपी लोहा चुराने के उद्देश्य से फिश प्लेट खोल रहा था। उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। आतंकी कनेक्शन की भी जांच की जा रही है। हालांकि अभी तक हुई जांच और पूछताछ में इस तरह की कोई बात सामने नहीं आई है। भीड़ की पिटाई के बाद युवक का अस्पताल में उपचार चल रहा है। - सुभाषचंद दुबे, एसपी रेलवे
  
मथुरा से आगरा की तरफ जा रही गोंडवाना सुपरफास्ट ट्रेन की बोगी शनिवार देर रात करीब 10.30 बजे फरह क्षेत्र में पटरी से उतर गई। इससे यात्रियों में दहशत फैल गई। हालांकि बड़ा हादसा टल गया। स्लीपर क्षतिग्रस्त हो गए। इससे डाउन ट्रैक बाधित हो गया है। पीछे से आ रही ट्रेनों को रोका गया है।
गोंडवाना एक्सप्रेस सुपरफास्ट मथुरा से आगरा की तरफ जा रही थी। शनिवार रात करीब 10:30 बजे फरह क्षेत्र में गांव जलाल स्थित गेट संख्या 517 के पास इंजन के पीछे लगी पार्सल बोगी पटरी से उतर गए। यात्रियों में चीख-पुकार मच गई। ट्रेन रुकते ही तमाम यात्री उतरकर बाहर आ गए।
...
more...
बेपटरी हुई बोगी के पीछे के डिब्बों में सफर कर रहे आगरा के यात्री हेमन्त, राजू, दिलीप और मध्य प्रदेश के रुद्राक्ष ने बताया कि बोगी एक-डेढ़ किलोमीटर पीछे गेट संख्या 518 के पास ही डिरेल हो गई। ट्रेन चूंकि तेज गति में थी इसलिये रगड़ से पटरी पर चिंगारियां निकलने लगीं। स्लीपर को क्षतिग्रस्त करती ट्रेन गेट संख्या 517 तक पहुंची। उनका कहना था कि डिब्बों में इतना धुआं और धूल भर गया कि सांस लेना मुश्किल हो गया। यात्रियों में चीख-पुकार मच गई। आनन-फानन में दहशतजदा यात्रियों ने चेन पुलिंग की, तब जाकर ट्रेन रुकी। बड़ा हादसा टल गया। गनीमत यह रही कि पार्सल बोगी थी।
समाचार लिखे जाने तक राहत टीम मौके की ओर रवाना हो चुकी ती। स्टेशन डायरेक्टर मथुरा एनपी सिंह का कहना है कि पार्सल बोगी पटरी से उतरने की सूचना मिली है। फिलहाल किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। लेकिन जिस तरह बोगी एक-डेढ़ किलोमीटर तक रगड़ती हुई आयी, उससे बहुत संभव है कि कुछ यात्रियों को छोटी-मोटी चोटें आई हों।
Page#    38690 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Mobile site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.